About

परिचय

नाम : उषा तनेजा ‘उत्सव’
शिक्षा : एम. फिल; बी. एड.
व्यवसाय : अध्यापन- TGT>PGT>प्रिंसिपल (सीनियर सेकण्डरी स्कूल), वर्तमान में अपना प्ले-स्कूल
लेखन : बचपन से ही लिखने का शौक रहा है| पर, अंतर्मुखी स्वभाव के कारण कुछ लिखने के बाद फाड़ दिया करती थी कि कहीं कोई पढ़ न ले| बाद में जब अध्यापन कार्य शुरू किया तो बच्चों को प्रोत्साहन देते हुए अनजाने में खुद को भी प्रोत्साहित करने लगी| स्थानीय डी. ए. वी. पब्लिक स्कूल की पहली मैगज़ीन में तत्कालीन प्रधानाचार्या आदरणीय श्रीमती आई. पी. भाटिया के निर्देशन में मुख्य संपादक की भूमिका निभाने का अवसर मिला तो सम्पादकीय लेख भी लिखा|
यह पहला प्रकाशित लेख था| उस से पहले स्कूल के सांस्कृतिक कार्यक्रमों में नाटक, निबंध व कवितायेँ खुद लिखा करती थी|
मंच आयोजन : कवि सम्मेलनों में काव्य पाठ, कई वर्षों तक लगातार स्कूलों में मुख्य मंच आयोजक की भूमिका, अग्रवाल महिला संगठनों द्वारा भव्य स्तर पर दिवाली मेला व तीज मेला में मंच सञ्चालन, कई बार बाल भवन में प्रति वर्ष आयोजित होने वाली जिला स्तर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में निर्णायक की भूमिका
विशेष दर्जा : ‘ज़रा सा प्यार’ के प्रकाशन पर फतेहाबाद जिले की प्रथम महिला लेखिका
सम्मान : जागरण जंक्शन द्वारा आयोजित ‘ब्लॉग ‘शिरोमणि’ प्रतियोगिता सितम्बर-अक्टूबर 2013 में ‘ब्लॉग मित्र’ का पुरस्कार; स्थानीय ‘स्ट्रीट मेल’ सांध्य दैनिक द्वारा ‘नवोदित साहित्यकार’
प्रकाशन : हास्य-व्यंग्य पत्रिका ‘अट्टहास’ लखनऊ का अक्तूबर-2013 ‘उषा तनेजा’ के नाम से विशेषांक| विभिन्न स्थानीय व राष्ट्रीय पत्र पत्रिकाओं में कई कविताएँ, व्यंग्य लेख, शैक्षिक लेख, लघु कथाएं आदि
पुस्तक प्रकाशन :
1. ‘ज़रा सा प्यार’ (सन 2000 में)– बच्चों के लिए कवितायेँ व प्रेरक लघु कहानियाँ जिसकी 1000 प्रतियाँ हाथों हाथ बिकी और उस राशि से आदरणीय श्रीमती स्वतन्त्र बाला चौधरी (तत्कालीन प्रधानाचार्या राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय व बाद में फतेहाबाद से विधायक) की देखरेख में ज़रूरतमंद बच्चों को जर्सियां वितरित की गईं|
2. मन की छुअन – कविता संग्रह – हिन्द-युग्म प्रकाशन दिल्ली द्वारा प्रकाशित (2013)