गोंद कतीरा और गोंद में अंतर

गोंद कतीरा और गोंद दोनों ही स्वास्थ्यवर्धक पदार्थ हैं व दोनों का औषधियों में तथा खाने की चीजें बनाने में उपयोग किया जाता है। दोनों पत्थर के छोटे छोटे टुकड़े जैसे होते हैं। दोनों दिखने में लगभग एक जैसे ही होते हैं। दोनों गहरे पीले और भूरे रंग के होते हैं। बाज़ार में मिलने वाले गोंद कतीरा व गोंद दोनों का आकार भी बराबर होता है। दोनों का प्रयोग खाद्य पदार्थों में किया जाता है। इसीलिए दोनों में फ़र्क़ कर पाना थोड़ा कठिन होता है लेकिन अनुभवी लोग इसकी पहचान आसानी से कर लेते हैं। 

गोंद और गोंद कतीरा के प्रयोगों के बारे में जानने से पहले इनमें फ़र्क़ समझना ज़रूरी है।

आइए जानते हैं दोनों में क्या फ़र्क़ होता है:

गोंद कतीरा के टुकड़ों में चमक नहीं होती जबकि गोंद में चमक होती है।

बायीं तरफ़ गोंद कतीरा तथा दायीं तरफ़ गोंद

ऊपर दर्शायी गई तस्वीर में ध्यान से देखें।

गोंद कतीरा के टुकड़ों में पीलापन ज़्यादा होता है जबकि गोंद में भूरापन ज़्यादा होता है।

जब गोंद कतीरा में में पानी डालकर भिगोया जाता है

तो गोंद कतीरा में फूल कर भुरभुरी बर्फ़ जैसा लगता है

जबकि गोंद को पानी में भिगोने पर



गोंद पानी में पूरी तरह घुल जाता है 

और केवल हल्के भूरे या पीले रंग का तरल पदार्थ ही रहता है।

दिखाई देने वाले उपरोक्त अंतर समझने के बाद कुछ और बातें जानना भी ज़रूरी हैं जैसे कि गोंद कतीरा की तासीर ठंडी होती है इसीलिए इसे गर्मियों में उपयोग में लाया जाता है जबकि गोंद की तासीर गर्म होती है इसीलिए इसे सर्दियों में उपयोग में लाया जाता है।

इसीलिए इसे प्रयोग करने से पहले इनमें अंतर अवश्य जान लें।

गोंद कतीरा का यह अफ़िलीएटेड लिंक है। अगर आप यहाँ से ख़रीदेंगे तो आपको किसी नुक़सान बग़ैर हमें कमीशन मिलेगी। धन्यवाद!

Post Comment