भारत का ‘सर्जिकल स्ट्राईक’ ऑप्रेशन

imageimage

जंग नहीं, यह तो जंग का ऐलान है

पाक के लिए अल्लाह का फरमान है

झूठ और आतंक का करना होगा खात्मा

नहीं तो ‘सर्जिकल स्ट्राईक’ की तर्ज पर
‘था’ हो जाएगा अब जो पाकिस्तान ‘है’
प्रधान मंत्री मोदी की चतुराई, सूझबूझ व योजना को गुप्त रूप से क्रियान्वित करने के ढंग से हर भारतीय अपने राष्ट्र पर गौरवान्वित महसूस कर रहा है। हम सुपर पावर बनने के सपने को साकार होते हुए देखना चाहते थे/हैं पर पाकिस्तान की आतंकी व हिंसक प्रवृति का शिकार लगातार बनते चले जा रहे थे। हमारे जवान पाक की नापाक करतूतों की वजह से शहीद होते रहे और हम हाथ मलते रह जाते थे। बातचीत के जरिए समस्या का हल खोजने के असंख्य प्रयास किए गए लेकिन पाकिस्तान गिरगिट की तरह रंग बदलता रहा। हमारे प्रधानमंत्री पर पक्ष और विपक्ष दोनों का ही बराबर दबाव बना रहा। युद्ध करने के सकारात्मक व नकारात्मक दोनों प्रभाव झेलने पड़ते।
इस ‘सर्जिकल स्ट्राईक’ ने दुनिया की सुपर पावर अमेरिका को भी दिखा दिया है कि ‘हम किसी से कम नहीँ’। हमारी सैन्य शक्ति तो हमेशा से ही ‘सुपर’ रही है। उसकी काबलियत पर कहीं भी शक की गुंजाईश नहीं थी। बस सही समय पर सही फैंसला लेने की जरूरत थी। इस समय को सही समय बनाने के लिए थोड़ा वक्त जरूर लगा पर पाकिस्तान की हकीकत संयुक्त राष्ट्र संघ व पूरी दुनिया के सामने रखकर अपनी विश्वसनीयता जीतना भी जरूरी था। इसी वजह से आज सारा विश्व हमारे साथ खड़ा है।
अब गेंद पाकिस्तान के पाले में है।
आगे क्या होगा?
जो पाकिस्तान चाहेगा!
हमने तो छोटे भाई को छोटा समझकर बहुत मौके दिए। पाकिस्तान के प्रधान मंत्री नवाज शरीफ की बेटी की शादी पर अपना बड़प्पन दिखाते हुए आशीर्वाद देने खुद ही पहुँच गए। पर अगर उसे प्यार की भाषा का अहसास होना तो दूर, मतलब ही समझ में न आए तो कहना ही पड़ेगा कि- लातों के भूत बातों से नहीं मानते।

 

Post Comment